फिल्म की शूटिंग के दौरान हुई धर्मेंद्र के छोटे भाई की मौत, लग रहे थे जुड़वां भाई

फिल्म की शूटिंग के दौरान हुई धर्मेंद्र के छोटे भाई की मौत, लग रहे थे जुड़वां भाई

बॉलीवुड के ‘हायमन’ यानी धर्मेंद्र के छोटे भाई वीरेंद्र को पंजाबी फिल्मों का सुपरस्टार माना जाता था, लेकिन एक हादसे में उनकी जान चली गई। जी हाँ, इस हादसे में धर्मेंद्र अपने भाई से काफी परेशान थे, क्योंकि उनके भाई वीरेंद्र की 40 साल की उम्र में शूटिंग के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. तो आइए आज हम आपको वीरेंद्र से जुड़ी एक कहानी बताते हैं

धर्मेंद्र और वीरेंद्र

बता दें कि वीरेंद्र सिंह 80 के दशक में पंजाबी सिनेमा के बड़े स्टार होने के साथ-साथ निर्माता-निर्देशक भी थे। उन्होंने अपने करियर में करीब 25 फिल्में कीं और सभी फिल्में ब्लॉकबस्टर साबित हुईं। वहीं आपको बता दें कि वीरेंद्र की कलात्मकता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हर निर्माता-निर्देशक वीरेंद्र सिंह को अपनी फिल्म में लेने पर जोर देते थे. वीरेंद्र सिंह न केवल एक महान अभिनेता बल्कि एक सफल निर्देशक और निर्माता भी थे।

धर्मेंद्र और वीरेंद्र

वीरेंद्र का चेहरा बिल्कुल धर्मेंद्र जैसा था और यही वजह है कि उन्हें पंजाबी फिल्म का ‘धर्मेंद्र’ भी कहा जाता था।

धर्मेंद्र और वीरेंद्र

वीरेंद्र ने धर्मेंद्र के साथ पंजाबी फिल्मों में भी काम किया। वीरेंद्र सिंह ने अपने 12 साल के फिल्मी करियर में करीब 25 फिल्में की हैं।

धर्मेंद्र और वीरेंद्र

गौरतलब है कि वीरेंद्र की सभी फिल्में ब्लॉकबस्टर रहीं। पंजाबी ही नहीं, वीरेंद्र ने दो हिंदी फिल्में भी बनाईं – ‘खेल मुकद्दर का’ और ‘दो चेहरे’ और ये दोनों फिल्में सफल रहीं।

धर्मेंद्र और वीरेंद्र

गौरतलब है कि वीरेंद्र की साल 1988 में फिल्म ‘जट ते जमीन’ की शूटिंग के दौरान मौत हो गई थी। हालांकि, यह तुरंत स्पष्ट नहीं हो सका कि हत्यारे कौन थे और उन्हें क्यों मारा गया।

धर्मेंद्र और वीरेंद्र

इतना ही नहीं, इंडस्ट्री में उनके निधन के बाद यह भी चर्चा थी कि कुछ ही समय में वीरेंद्र सिंह पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री के बड़े सुपरस्टार बन गए और उनकी सफलता ने झुंझलाहट की फौज खड़ी कर दी और इस वीरेंद्र सिंह के जीवन में कहीं न कहीं थे। बता दें कि वीरेंद्र सिंह के बेटे रणदीप सिंह ने भी अपने पिता की बायोपिक बनाई है।

धर्मेंद्र और वीरेंद्र

इस बायोपिक में धर्मेंद्र और सनी देओल ने भी काम किया है। वहीं वीरेंद्र सिंह ने अपने करियर की शुरुआत 1975 की फिल्म तेरी मेरी एक जिंदारी से की थी जिसमें उनके भाई धर्मेंद्र भी थे।

admin

admin