पहले ज्योतिलिंग सोमनाथ मंदिर के निचे खुदाई में कुछ ऐसा मिला की लोग इसे चमत्कार मान रहे है, देखिये ऐसा क्या-क्या मिला?

पहले ज्योतिलिंग सोमनाथ मंदिर के निचे खुदाई में कुछ ऐसा मिला की लोग इसे चमत्कार मान रहे है, देखिये ऐसा क्या-क्या मिला?

खबर आ रही है कि देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक को गुजरात के पश्चिमी तट पर भगवान सोमनाथ महादेव मंदिर के नीचे एल आकार की तीन मंजिला इमारत मिली है। यह जानकारी मिलने के बाद आईआईटी गांधीनगर और चार अन्य संबद्ध संस्थानों के पुरातत्वविदों ने जीपीआर यानी ग्राउंड पेनेट्रेटिंग राडार जांच की और यह दावा भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने इसी जांच के आधार पर किया है|

सोमनाथ मंदिर देश और दुनिया में लाखों हिंदुओं की आस्था का प्रतीक है। 2017 में सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट की एक बैठक में, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रभास पाटन और सोमनाथ में पुरातत्व अध्ययन करने का सुझाव दिया। पीएम के अनुरोध पर यहां 1 साल तक पुरातत्व विभाग की जांच आईआईटी गांधीनगर की मदद से की गई।

जिसके बाद आईआईटी गांधीनगर से रिपोर्ट सोमनाथ ट्रस्ट को सौंपी गई। इस संबंध में सोमनाथ के प्रबंधक विजय चावड़ा का कहना है कि ये सभी अभ्यास सोमनाथ के इतिहास की खोज के उद्देश्य से किए गए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, सोमनाथ और प्रभास पाटन में 4 इलाकों में जीपीआर चेक किया गया. इनमें सोमनाथ मंदिर के दिग्विजय द्वार द्वारा पहचाने जाने वाले मुख्य द्वार गोलोकधाम के साथ-साथ सरदार वल्लभभाई पटेल की मूर्ति के साथ-साथ एक बौद्ध गुफा के आसपास का स्थान भी शामिल है।

नक्शे के साथ 32 पेज की रिपोर्ट सोमनाथ ट्रस्ट को सौंपी गई।

jaimish

jaimish

Leave a Reply

Your email address will not be published.