Mumtaz Shocking Revelas:मुमताज देव आनंद के बेहद करीब थी इस लिए उसने देव की ऑनस्क्रीन बहन बनने से कर दिया था इनकार, अब कर रही हैं चौकने वाला खुलासा

admin
6 Min Read

Mumtaz:

70 के दशक की एक्ट्रेस Mumtaz ने हाल ही में देव आनंद से जुड़े कईं खुलासे किए. उन्होंने बताया कि देव आनंद की एक फिल्म में उन्होंने उनकी ऑनस्क्रीन बहन बनने से इंकार कर दिया था.

Mumtaz On Dev Anand:

देव आनंद और मुमताज ने कईं फिल्मों में साथ काम किया. इनकी ऑनस्क्रीन जोड़ी को फैंस काफी पसंद करते थे.

इस जोड़ी ने साथ में दो फेमस फिल्मों तेरे मेरे सपने (1971) और हरे रामा हरे कृष्णा (1971) में काम किया था. वहीं सालों बाद अब मुमताज ने देव आनंद से जुड़े कईं किस्सों का खुलासा किया है.

ईटाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक मुमताज ने देवआनंद को लेकर कईं खुलासे किए. वेटरन एक्ट्रेस मुमताज ने कहा,  देव साहब ने एक ऐसा स्टाइल पेश किया था, जिसकी कोई बराबरी नहीं कर सकता था.

मुमताज ने कहा, “जिस तरह से वो भागते थे, अपना सिर हिलाते थे… मुझे नहीं लगता कि इस जनरेशन के लोग उनकी एक्टिंग के साथ-साथ उनका स्टाइल और हाव-भाव कैरी कर सकते हैं.” उनका अपना व्यक्तित्व था और लोगों ने उसे स्वीकार किया और उन पर प्यार बरसाया.”

मुमताज ने देवआनंद की ऑस्क्रीन बहन बनने से कर दिया था इंकार

एक्ट्रेस की पहली फिल्म में उन्हें पति-पत्नी के रूप में दिखाया गया था, लेकिन जब देव आनंद ने अपने सेकंड वेंचर के लिए उनसे कॉन्टेक्ट किया तो मुमताज को कुछ आपत्तियां थीं.

वह बताती हैं, “वह हरे राम हरे कृष्णा के लिए मुझसे मिलने घर आए थे और कहानी सुनाई थी. वह चाहते थे कि मैं उस फिल्म में उनकी बहन का किरदार निभाऊं.

मैंने सोचा कि एक शादीशुदा जोड़े का किरदार निभाने के बाद अगर हम अपनी दूसरी फिल्म में भाई-बहन का किरदार निभाएंगे तो क्या यह अजीब नहीं लगेगा?

इसलिए, मैंने उनकी बहन की भूमिका निभाने से इनकार कर दिया और उनकी जगह उनकी हिरोइन की भूमिका निभाने की पेशकश की.

उन्होंने जोर देकर कहा कि बहन का रोल बड़ा था और मुझे इसे मिस नहीं करना चाहिए. मैं पागल हो गई थी क्योंकि तेरे मेरे सपने में लोगों ने हमारी जोड़ी को, हमारे सीन और गानों को काफी पसंद किया था.

उन्हें मेरी बात समझ में आ गई और मैं बहुत आभारी थे कि उन्होंने मुझे वह भूमिका चुनने दी जो मैं फिल्म में निभाना चाहती थी. ”

Mumtaz Dev Anand Facts: 

मुमताज बोलीं, तेरे मेरे सपने के बाद उन्होंने मुझे हरे रामा हरे कृष्णा में जेनिस का किरदार निभाने का ऑफर दिया था. ये फिल्म भाई बहन के रिश्ते पर थी और देव जी चाहते थे कि मैं फिल्म में उनकी बहन का रोल करूँ लेकिन मैंने इससे मना कर दिया.

देव आनंद के बेहद करीब थीं मुमताज

वहीं लीजेंड एक्टर के साथ अपने पर्सनल रिलेशनशिप के बारे में मुमताज़ ने कहा, “देव साहब मुझसे बहुत प्यार करते थे. मैं देव साहब के बहुत करीब थी और वह मुझे मुमजी कहकर बुलाते थे.

सेट पर वह हमेशा मुझे अपना स्कार्फ चुनने के लिए बुलाते थे. वह कहते थे, ‘मुमजी, यहां आओ. मैं उनके मेकअप रूम में जाती थी, जहां छह-सात स्कार्फ रखे होते थे और वह मुझसे सीन के लिए एक चुनने के लिए कहते थे.

मुझे यह देखकर गर्व महसूस होता था कि देव साहब मेरी पसंद को महत्व दे रहे हैं.”

मुमताज दशकों से सुर्खियों से दूर रही हैं, लेकिन वह खूबसूरत और फिट दिखती हैं और उन्हें इंस्पायर करने का क्रेडिट वो देव आनंद को देती हैं.

मुमताज बताती हैं, “वह हमेशा कहते थे, उम्र सिर्फ एक नंबर है और हर किसी को अपना ख्याल रखना चाहिए… अपना ख्याल रखो और अच्छे लगो, ये मुझे देव साहब ने सिखाया है.”

Mumtaz Dev Anand Movies:

60 और 70 के दशक में मुमताज (Mumtaz) सबसे पॉपुलर बॉलीवुड एक्ट्रेसेस में शुमार की जाती थीं. उन्होंने देव आनंद (Dev Anand) के अपोजिट फिल्म तेरे मेरे सपने से फिल्मों में डेब्यू किया था.

विजय आनंद इस फिल्म के डायरेक्टर थे जिसमें देव आनंद के साथ मुमताज की जोड़ी काफी पसंद की गई थी.

इसे देखते हुए देव आनंद ने मुमताज को फिल्म हरे रामा हरे कृष्णा में अहम् रोल देने की कोशिश की थी लेकिन उन्होंने मना कर दिया था. हाल ही में एक इंटरव्यू में मुमताज ने देव आनंद के साथ अपनी बॉन्डिंग के बारे में खुलकर बात की है.

ये भी पढ़ें :

Permanent Roommates Season 3 : परमनेंट रूममेट्स में मिकेश और तनु के बीच हुई कनाडा जाने के लिए तकरार, नया सीजन होने वाला है और भी मजेदार

Amrita-Saif Secret Wedding Reason:अमृता-सैफ ने क्यों लिए थे गुपचुप फेरे क्या था शादी का राज

Share This Article