संभव नहीं !! अमरीश पुरी से पहले इस अभिनेता को मिला मोगैंबो का खौफनाक किरदार, फिर हुआ कुछ ऐसा कि अमरीश पुरी को मिला मौका

संभव नहीं !!  अमरीश पुरी से पहले इस अभिनेता को मिला मोगैंबो का खौफनाक किरदार, फिर हुआ कुछ ऐसा कि अमरीश पुरी को मिला मौका

आपको पता ही होगा कि फिल्म लाइम लाइट के विलेन मोगैंबो को मिस्टर इंडिया फिल्म के हीरो और हीरोइन से ज्यादा कुछ मिला था. मिस्टर इंडिया फिल्म अभिनेता अनिल कपूर और अभिनेत्री श्रीदेवी मोगैम्बो का रंग पीला पड़ गया। मिस्टर इंडिया 1987 में रिलीज़ हुई एक सुपरहिट फिल्म थी और उतना ही भयानक था भयानक खलनायक मोगैम्बो। इस बेहद मशहूर विलेन का किरदार अमरीश पुरी ने निभाया था।

अमरीश पुरी ने 400 से ज्यादा फिल्में कीं लेकिन उनके फिल्मी करियर में सबसे यादगार रोल मोगैम्बो था लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस किरदार के लिए अमरीश पुरी पहली पसंद नहीं थे।

दरअसल अनुपम खेर फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ में रोल के लिए पहली पसंद अभिनेता थे। दरअसल, 1986 में डॉक्टर डांग नाम के विलेन की भूमिका में कर्म का बोलबाला था। ऐसे में उन्हें अमरीश पुरी ने फिल्म मिस्टर इंडिया में मोगैम्बो के रोल के लिए अप्रोच किया था। इस बात का खुलासा खुद अनुपम खेर ने एक इंटरव्यू में किया था।

उन्होंने कहा, “मुझे पहले मिस्टर इंडिया में मोगैम्बो की भूमिका की पेशकश की गई थी, लेकिन एक या दो महीने बाद, फिल्म के निर्माताओं ने मेरी जगह अमरीश पुरी को भूमिका दी,” उन्होंने कहा। आम तौर पर एक अभिनेता को बुरा लगता है जब आप कोई फिल्म छोड़ते हैं, लेकिन जब मैं मिस्टर इंडिया और अमरीश जी को मोगैम्बो की भूमिका में देखता हूं तो मुझे लगा कि फिल्म निर्माताओं ने अमरीश जी को अपनी फिल्म में लेने का फैसला बिल्कुल सही था।

अमरीश पुरी उन सितारों में से एक रहे हैं जिनका असर असल जिंदगी में दिखाई देता है। इस फिल्म में उनका रोल हीरो के रोल से ज्यादा दमदार था। इसलिए वह सबसे महंगे विलेन थे। यही वजह है कि अमरीश पुरी उस दौरान 1 करोड़ रुपए फीस ले रहे थे।

अमरीश पुरी ने राम लखन, सौदागर, करण अर्जुन, लोहा नगीना, ग़दर, दामिनी जैसी फिल्मों में कई तरह के भयानक खलनायक की भूमिका निभाई। उनके किरदारों के डायलॉग आज के फैंस की जुबान पर बरकरार हैं।

उन्होंने सकारात्मक और नकारात्मक भूमिकाएं निभाकर लोगों का दिल जीता। फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे में काजोल के पिता के किरदार को लोग आज भी नहीं भूल सकते हैं. लोग अक्सर फिल्म में उनके डायलॉग ‘जा सिमरन जी ले अपनी जिंदगी’ की बात करते हैं। इस पर कई मीम्स बने हैं।

आपको बता दें कि अमरीश पुरी का 12 जनवरी 2005 को ब्रेन हेमरेज के कारण निधन हो गया था। उसके बाद से फिल्म इंडस्ट्री में अपने आकार के एक दमदार विलेन की जगह आज भी खाली है।

jaimish

jaimish

Leave a Reply

Your email address will not be published.