राहु और केतु इन 3 राशियों पर विशेष रूप से प्रसंद हैं| जानिए कोन कोन सी राशि है

राहु और केतु इन 3 राशियों पर विशेष रूप से प्रसंद हैं| जानिए कोन कोन सी राशि है

हम सभी जानते हैं कि राहु और केतु सभी लोगों को प्रभावित करते हैं। राहु और केतु का प्रभाव आमतौर पर बुरा माना जाता है लेकिन कुछ राशियों के लिए यह शुभ होता है। इस राशि के जातकों में इसका प्रभाव बहुत ही कम होता है। तो आइए जानते हैं कौन सी ऐसी हैं जिन पर राहु और केतु का प्रभाव बहुत कम होता है।

कुंडली में तीसरा स्थान : आपको बता दें कि यदि कुंडली में राहु और केतु का तीसरा स्थान हो तो आपको घबराना नहीं चाहिए। क्योंकि यह स्थान राहु केतु के लिए शुभ माना जाता है। अगर आपके घर में राहु और केतु भी इस स्थान पर बैठे हैं तो आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। इससे पता चलता है कि इस राशि के लोग कुश्ती और बॉडी बिल्डिंग में जगह बनाएंगे।

कुंडली में छठा स्थान : यदि राहु और केतु छठे स्थान पर हों तो आपको डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह स्थान शत्रु मूल्य को दर्शाता है अर्थात यदि आपके कोई शत्रु हैं तो वे दूर हो जाएंगे और आप हर जगह जीतेंगे।

कुंडली में दसवां स्थान: कुंडली में दसवां स्थान भी राहु और केतु के लिए शुभ माना जाता है। ऐसे लोग व्यापार और पेशे में आगे बढ़ते हैं। इसके अलावा वे नेता के रूप में उभरे हैं। यानी उनका राजनीतिक करियर अच्छा है. इसके अलावा इनका स्वभाव थोड़ा कंजूस होता है यानी ये बहुत जल्दी पैसा खर्च नहीं करते हैं।

कुंडली में ग्यारहवां स्थान: यदि आपके घर में राहु और केतु एकादश भाव में हों तो शुभ होता है। यह स्थान घर के खर्चों का प्रतिनिधित्व करता है यानी यदि आपकी कुंडली में यह स्थान है तो समझ लें कि आप बहुत जल्द कहीं निवेश कर सकते हैं, जो आपके जीवन में बाद में धन ला सकता है।

राहु और केतु की विशेष स्थिति: मेष, वृष और कर्क राशि के लोगों की राशि में राहु और केतु होने पर भी यह शुभ माना जाता है, अर्थात उनका इस स्थिति में होना शुभ माना जाता है और यह कोई नुकसान नहीं कर सकता।

jaimish

jaimish