Subrata Roy’s Life Unexplored Aspects:सुब्रत रॉय की जिंदगी के अनछुए पहलू दिखेंगे इस फिल्म में, हो चूका फिल्म का एलान

admin
7 Min Read

Subrata Roy Died :

सहारा ग्रुप के मुखिया Subrata Roy का देर रात निधन हो गया है। मुंबई में में सुब्रत रॉय ने आखिरी सांस ली है और 75 साल की उम्र में सहाराश्री सुब्रत रॉय ने इस दुनिया को अलविदा को कह दिया है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि सुब्रत रॉय के जीवन पर एक बायोपिक फिल्म बन रही है जिसका एलान पहले ही हो चुका है।

सहाराश्री सुब्रत राय महज 2000 रुपए से शुरू किये गए फाइनेंस कंपनी के कारोबार को उन्होंने 2 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचाया।

Subrata Roy Biopic Movie:

देश के मशहूर बिजनेसमैन रहे और सहारा ग्रुप के मुखिया Subrata Roy का मंगलवार रात मुंबई में निधन हो गया है।

काफी समय से सुब्रत रॉय स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझ रहे थे, जिसके चलते उनका मुंबई एक अस्पताल में इलाज भी चल रहा था। लेकिन 14 नवंबर को 75 साल की उम्र में सुब्रत रॉय अपनी जिंदगी की जंग हार गए।

सुब्रत रॉय के देहांत से हर तरफ शोक की लहर छाई हुई है और हर कोई उनके बारे में जानने में जुट गया है।

लेकिन अगर आपको सुब्रत रॉय की जिंदगी के अहम पहलूओं का जानना है तो उसका विस्तार आपको ‘द केरल स्टोरी’ के डायरेक्टर सुदीप्तो सेन की आने वाली फिल्म ‘सहाराश्री’ में देखने को मिलेगा|

Subrata Roy के जीवन पर बन रही है फिल्म

Subrata Roy का नाम देश के फेमस बिजनेसमैन की सूची में हमेशा शामिल रहेगा। उनकी जिंदगी से संबंधित कई रोचक किस्से मौजूद हैं,जिनका विवरण आपको उनके जीवन पर बनने वाली फिल्म ‘सहाराश्री’ में देखने को मिलेगा।

बीते 10 जून को ‘द केरल स्टोरी’ के निर्देशक सुदीप्तो सेन ने सुब्रत रॉय के बायोपिक ‘सहाराश्री’ का एलान किया था।

सेन ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम हैंडल पर सहाराश्री का मोशन पोस्टर शेयर किया था, जिसमें एक शख्स हाथ में सहारा ग्रुप का चेक लिए नजर आ रहा है, जिसका चेहरा दिखाई दे नहीं दे रहा है। ये चेक भारतवासियों के लिए है। इस पोस्ट के कैप्शन में सुदीप्तो सेन ने लिखा है-

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sudipto Sen (@sudipto_sen)

”सहाराश्री सुब्रत रॉय के जीवन की असामान्य पहेली की यात्रा पर निकल पड़े हैं। उनके जीवन से जुड़े अहम पहलू, कुछ अनकही कहानी और ऐसी बातें जो शायद ही कोई और उनके बारे में जानता होगा, उस सब के साक्षी आप सहाराश्री के जरिए बनेंगे।”

इस तरह से सुदीप्तो सेन सुब्रत रॉय की बायोपिक को लेकर अपनी राय रखी थी।

Subrata Roy की बायोपिक का हर किसी को इंतजार

अब जब Subrata Roy का निधन हो गया है तो यकीनन तौर पर हर कोई उनकी बायोपिक की रिलीज का बेसब्री से इंतजार कर रहा है।

ऐसे में सहाराश्री के मेकर्स भी सुब्रत रॉय की जीवन पर बनने वाली इस मूवी की रिलीज डेट से जुड़ा कोई अपडेट भी जल्द दे सकते हैं। सही मायनों में कहा जाए तो सुब्रत रॉय की मौत देश के लिए एक बड़ा नुकसान माना जा रहा है।

सहारा समूह (Sahara grup) के संस्थापक सुब्रत रॉय (Subrata Roy) सहारा का लम्बी बीमारी के बाद मंगलवार को निधन हो गया। सहारा श्री का गोरखपुर से गहरा रिश्ता रहा है।

उन्होंने न सिर्फ यहां से टेक्निकल पढ़ाई की बल्कि कारोबार की शुरुआत भी गोरखपुर से की। महज 2000 रुपये से शुरू किये गए फाइनेंस कंपनी के कारोबार को उन्होंने 2 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचाया।

सुब्रत राय ने वर्ष 1978 में अपने मित्र एसके नाथ के साथ फाइनेंस कंपनी शुरू की।

सिनेमा रोड स्थित कार्यालय के एक कमरे में दो कुर्सी और एक स्कूटर के साथ उन्होंने दो लाख करोड़ रुपये तक का सफर तय कर किया। जहां वह छोटे-छोटे दुकानदारों से बचत कराते थे।

थोड़ी पूंजी हुई तो वर्ष 1978 में औद्योगिक क्षेत्र में कपड़े और पंखे की छोटी फैक्टरी शुरू की। इस दौरान वह स्कूटर से पंखा और अन्य उत्पादों को बेचा करते थे। दुकानों पर पंखा पहुंचाने के साथ ही वह दुकानदारों को छोटी बचत के बारे में जागरूक करते थे।

सहारा ग्रुप के मुखिया Subrata Roy का मुंबई में निधन, लम्बे समय से थे बीमार

बैंकिंग जरूरतों के साथ रोजगार के अवसर के बीच सहारा की ‘गोल्डेन की’ योजना क्रान्तिकारी साबित हुई। जिसमें समय-समय पर होने वाली लाटरी ने निम्न मध्यम वर्ग को मजबूती से जोड़ा।

वर्ष 1983-84 में कारोबारी मित्र एसके नाथ ने अलग होकर दूसरी कंपनी स्थापित कर ली। इसी साल सुब्रत राय ने लखनऊ में कंपनी का मुख्यालय खोला।

बेतियाहाता में किराए के मकान में रहते थे

Subrata Roy बेतियाहाता में अधिवक्ता शक्ति प्रकाश श्रीवास्तव के घर में किरायेदार थे, जहां उनके बच्चों का भी जन्म हुआ। शुरुआती दिनों में रेलवे के बाद पूर्वांचल के बेरोजगारों को रोजगार देने वाली प्रमुख कंपनी सहारा ही थी।

सुब्रत राय का गोरखपुर से खासा लगाव था। मीडिया क्षेत्र हो या फिर रियल इस्टेट गोरखपुर में उनकी कंपनी ने दोनों क्षेत्र में बड़ा निवेश किया। वर्ष 2000 में यूनिट का शुभारंभ करने मिलेनियम स्टार अमिताभ बच्चन पहुंचे थे।

टाउन हाल स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से लेकर छात्र संघ चौराहे पर विवेकानंद की प्रतिमा तक को संवारा।

बॉलीवुड के अभिनेताओं को लाने का श्रेय

सुपर स्टार अनिल कपूर, दीया मिर्जा से लेकर बालीवुड के नामचीन चेहरों को गोरखपुर में लाने का श्रेय सुब्रत राय को जाता है। ज्योतिषाचार्य कृष्ण मुरारी मिश्रा के वहां वैवाहिक कार्यक्रम में बालीवुड के सभी प्रमुख चेहरों की मौजूदगी से गोरखपुर सुर्खियों में आया था।

एक बार गोरखपुर से जुड़ाव को लेकर सुब्रत राय ने कहा था कि ‘जब भी गोरखपुर आता हूं, मुझे बहुत अच्छा लगता है। ये मेरा घर है। पूरी दुनिया में तमाम शहर हैं लेकिन गोरखपुर मेरे लिए खास है।’

ये भी पढ़ें :

Vidya Sinha’s Life Was Heavy With Struggles:विद्या सिन्हा ने ‘रजनीगंधा’ मैं अपनी उम्र अदाकारी से छोड़ी अमित छाप, एक्ट्रेस की जिंदगी थी संघर्षो से भारी

Kriti Sanon Diwali Look Created Uproar On Internet:कृति सेनन का दिवाली लुक ने मचाया इंटरनेट पर हंगामा, कृति सेनन की दिवाली पर बनी आइटम बॉम्ब

TAGGED: ,
Share This Article