आलिया भट्ट के पिता को देख खूब उछल पड़े विनोद खन्ना, इस बात पर भड़के एक्टर

आलिया भट्ट के पिता को देख खूब उछल पड़े विनोद खन्ना, इस बात पर भड़के एक्टर

हिंदी सिनेमा में कई ऐसे सितारे हैं, जिनके बीच बहुत गहरी दोस्ती थी या थी। दिवंगत और दिग्गज अभिनेता विनोद खन्ना और हिंदी सिनेमा के मशहूर निर्देशक महेश भट्ट भी काफी अच्छे दोस्त थे। दोनों दिग्गजों के बीच काफी गहरी दोस्ती थी और इस जोड़ी ने साथ में फिल्मों में भी काम किया।

विनोद खन्ना और महेश भट्टी

विनोद खन्ना ने करीब चार साल पहले इस दुनिया को अलविदा कह दिया था, हालांकि उनसे जुड़े किस्से आज भी काफी चर्चित हैं। बता दें कि जब विनोद अपने करियर के पीक पर थे तो वह सब कुछ छोड़कर ओशो रजनीश के आश्रम चले गए। ऐसा उन्होंने महेश भट्ट के कहने पर किया। वहीं, महेश के अनुरोध पर विनोद खन्ना ने अपने भाई मुकेश भट्ट को अपना सचिव नियुक्त किया। लेकिन एक बार महेश और विनोद के बीच बात बिगड़ गई। विनोद ने गुस्से में महेश को एक-एक कर थप्पड़ मार दिया। हालांकि, ऐसा क्यों, कब और कहां हुआ? आइए हम आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

विनोद खन्ना और महेश भट्टी

80 के दशक में विनोद खन्ना ने हिंदी सिनेमा में अपना नाम बनाया। इस दौरान उन्होंने बहुत अच्छा काम किया और उनका करियर अपने चरम पर था। इसी बीच उसके सिर से मां का साया उठ गया। मां की मौत से हास्य बुरी तरह टूट गया। इस दर्द में महेश ने विनोद को ओशो रजनीश के आश्रम में जाकर अध्यात्म में संलग्न होने की सलाह दी। विनोद ने महेश की बात मानी और वे सब कुछ छोड़कर चले गए।

विनोद खन्ना

कहा जाता है कि विनोद खन्ना ओशो रजनीश के आश्रम में कुछ साल रहे और एक साधु की तरह रहे। हालांकि इसके बाद वह वापस आ गए और उन्होंने हिंदी सिनेमा में भी वापसी की। महेश भट्ट ने एक बार अपने इंटरव्यू में खुलासा किया था कि, ‘तब मेरे पास पैसे नहीं थे। हास्य ने मेरा ख्याल रखा और मेरी यात्रा के लिए भुगतान किया।

विनोद खन्ना और महेश भट्टी

विनोद की हिंदी सिनेमा में वापसी फिल्म ‘इंसाफ’ से हुई। फिल्म हिट रही और इसे देखकर महेश ने अपने भाई मुकेश के साथ फिल्म ‘जुरमा’ में काम करना शुरू कर दिया और विनोद को फिल्म में काम करने के लिए कहा। हालांकि महेश विनोद को फिल्म के लिए पैसे नहीं दे रहे थे और ऐसे में दोनों के बीच चीजें बिगड़ने लगीं. महेश की बेरुखी और पैसे के लिए देरी होने लगी तो विनोद ने नाराजगी जताई और लगातार 40 दिनों तक शूटिंग कैंसिल कर दी।

विनोद खन्ना और महेश भट्टी

इस घटना से विनोद और महेश के रिश्ते में और दरार आ गई। विनोद को महेश से फिल्म के लिए पैसे नहीं मिल रहे थे, इसलिए वह शूटिंग कैंसिल करते रहे, वहीं महेश अब सार्वजनिक जगहों पर भी विनोद के खिलाफ बोलने लगे। थोड़ी देर तक विनोद कुछ नहीं बोले, हालांकि उनका सब्र टूट गया और उन्होंने महेश भट्ट को अपनी तेज गोद से जवाब दिया।

विनोद खन्ना और महेश भट्ट 3

एक दिन महेश और विनोद स्टूडियो में आमने-सामने मिले। महेश को देखकर विनोद को गुस्सा आ गया और विनोद ने महेश को एक-एक कर मारा। इस घटना ने उनकी पुरानी दोस्ती को भी खत्म कर दिया।

विनोद खन्ना और महेश भट्टी

admin

admin