ब्रह्मास्त्र हिट हुई या फ्लॉप, यह सिर्फ करण जौहर ही बेहतर बता सकते हैं कंगना या कोई दूसरा नहीं!

ब्रह्मास्त्र हिट हुई या फ्लॉप, यह सिर्फ करण जौहर ही बेहतर बता सकते हैं कंगना या कोई दूसरा नहीं!

ब्रह्मास्त्र को हिट दिखाने के लिए क्या कोई बुकिंग स्कैम चल रहा है? असल में ब्रह्मास्त्र को लेकर दिख रहे जेन्युइन वर्ड ऑफ़ माउथ और उसके अगेंस्ट कमाई के आंकड़ों को लेकर इतना कन्फ्यूजन है कि क्या ही कहा जाए. फिल्म को लेकर जारी तमाम तरह की चर्चाओं में बुकिंग स्कैम का भी एक एंगल है. कंगना रनौत ने भी ऐसा ही दावा किया है. उन्होंने एक इंस्टाग्राम स्टोरी में आरोप लगाया कि ब्रह्मास्त्र को हिट दिखाने के लिए कुछ ट्रेड एनालिस्ट बॉक्स ऑफिस के आंकड़ों में हेरफेर कर रहे हैं. वैसे अब तक जो ट्रेड एक्सपर्ट आंकड़े देते हैं वे भी इस्टीमेट ही बता रहे.

यहां तक कि फिल्मों के ट्रेड आंकड़े देने के लिए मशहूर तरण आदर्श भी करण जौहर की फिल्म के कलेक्शन आंकड़े बहुत देर बाद साझा किए और वह भी अनुमानित. जबकि तरण बड़ी फिल्मों के आंकड़े दोपहर से पहले पहले साझा कर दिया करते थे. हो सकता है कि निगेटिव रिव्यू पर एक धड़े से ट्रोल होने के बाद उन्होंने आंकड़ों में हाथ डालना बेहतर ना समझा हो. उन्हें भी तो मुंबई के सिनेमा उद्योग में ही रहना है. इसके उलट ब्रह्मास्त्र का निर्माण करने वाले धर्मा प्रोडक्शन ने पहले दिन दावा किया कि फिल्म ने वर्ल्ड वाइड 75 करोड़ कमाए हैं. पहले दिन की कमाई पर सवाल होने के बाद विश्लेषण लिखे जाने तक धर्मा ने दूसरे दिन के आंकड़े साझा करने से संकोच किया है. क्यों, पता नहीं. जैसे पहले दिन का आंकड़ा साझा किया दूसरे दिन का भी कर ही सकते थे.

खैर, फिल्म ट्रेड की अथेंटिक वेबसाइट ‘बॉलीवुड हंगामा’ ने भी दो दिनों का अनुमानित आंकड़ा ही साझा किया है. उनकी रिपोर्ट के मुताबिक़ दूसरे दिन फिल्म के हिंदी वर्जन ने 41.25 से 43.25 करोड़ के बीच कमाई की है. दो दिनों की कमाई 79 करोड़ है. चूंकि फिल्म को पैन इंडिया रिलीज किया गया है बावजूद साउथ से नाम मात्र की कमाई हुई है. इसमें भी तेलुगु का कंट्रीब्यूशन सबसे ज्यादा है. कन्नड़ और तमिल में तो कुछ लाख की ही कमाई हुई. ब्रह्मास्त्र की कमाई को लेकर तगड़ा सा कन्फ्यूजन बना हुआ है. 400 करोड़ से ज्यादा के बजट में बनी फिल्म ने हकीकत में कितना कमाने में कामयाब में रही, फिलहाल यह जानकारी सिर्फ करण जौहर ही दे सकते हैं- कंगना रनौत या दूसरा कोई नहीं.

क्या ब्रह्मास्त्र की कमाई के आंकड़ों को फर्जी मान लेना चाहिए?
जहां तक फिल्म के कंटेंट की बात है तो सिनेमाघर जाकर ब्रह्मास्त्र देखने वाले ज्यादातर दर्शक फिल्म की बहुत आलोचना करते नजर आ रहे हैं. तमाम सिनेमाघर के अंदर से फोटो और वीडियो भी साझा कर रहे. उनका दावा है कि बहुत सीमित मात्रा में दर्शक पहुंच रहे मगर ब्रह्मास्त्र की पीआर टीम इसे बढ़ा चढ़ाकर पेश कर रही है. और दर्शक सिर्फ मुंबई और दिल्ली एनसीआर जैसे महानगरों में ही आ रहे. छोटे शहरों में ब्रह्मास्त्र की हालत तो और खस्ता है. सोशल मीडिया पर अनेकों ट्वीट और प्रतिक्रियाएं हैं जिसमें ब्रह्मास्त्र के शोज के दौरान थियेटर खाली देखे जा सकते हैं. स्वाभाविक है कि दुनियाभर में आठ हजार से ज्यादा स्क्रीन्स पर रिलीज की गई फिल्म की कमाई और एडवांस बुकिंग को फेक मानने वालों की कमी नहीं है.

खासकर फिल्म के ओवरसीज कलेक्शंस को लेकर. लोग सबूत भी पेश करते नजर आ रहे. अब पक्ष-विपक्ष में पेश किए जा रहे दावे कितने सही है- यह पुख्ता नहीं कहा जा सकता. मगर फिल्म के स्केल को लेकर निर्माताओं के दावे को सही भी मान लिया जाए तो करण जौहर एंड टीम कारोबारी फ्रंट पर कमजोर ही नजर आ रही है. एक यूजर ने कथित रूप से अमेरिका के एक थियेटर में फिल्म की शोकेसिंग के दौरान का इनसाइड वीडियो डाला है. यह खूब वायरल है. सिनेमाघर लगभग खाली है. एक दो दर्शक ही अंदर नजर आ रहे हैं. ऐसे वीडियोज के जरिए दावा किया जा रहा कि ओवरसीज, फेक कलेक्शन भी करण जौहर की फिल्म को बचा नहीं पाएगी. अगर अमेरिका में भी शोज खाली जा रहे हैं तो ओवरसीज की रिकॉर्डतोड़ कमाई के आंकड़े किस सुराक से आ रहे हैं पता नहीं.

एडवांस बुकिंग का बजट ही मुम्बइया निर्माताओं की सक्सेस का फ़ॉर्मूला बन सकता है अब
इधर, देश में कुछ सिनेमाघर से फिल्म देखकर निकले लोगों ने भी ब्रह्मास्त्र के लिए बुकिंग स्कैम के आरोप लगाए हैं. कंटेंट की आलोचना कर रहे हैं वह अलग है. सोशल मीडिया पर कई लोगों ने दावे से सबूत पेश करते हुए कहा कि भारीभरकम बुकिंग बताई गई, मगर सिनेमाघरों के अंदर दर्शक ही नजर नहीं आ रहे. क्या दर्शकों ने फिल्म का टिकट बुक कर लिया और फिल्म देखने नहीं पहुंच रहे हैं. बॉलीवुड के लिए यह तो अच्छी बात है कि लोग बिना फिल्म देखे ही करण जौहर की जेब में पैसे डाल रहे हैं. वैसे कुछ ऐसे वीडियो भी हैं जिसमें सिनेमाघरों के अंदर और बाहर दर्शकों की ठीकठाक संख्या नजर आ रही है.

कुछ लोगों ने यह भी कहा कि एडवांस बुकिंग और कलेक्शन के फर्जी आंकड़ों के जरिए निर्माताओं की कोशिश है कि दूसरे दर्शकों को सिनेमाघर तक आकर्षित किया जाए. यह कम मजेदार नहीं है कि आंध्र और तेलंगाना सर्किट में जूनियर एनटीआर और राजमौली जैसे दिग्गजों के मैराथन प्रयास के बावजूद तेलुगु में फिल्म ने कुछ करोड़ की कमाई की. तेलुगु की कार्तिकेय 2 ने जितना हिंदी बेल्ट में कमाए थे उससे भी कम.

सोशल मीडिया पर कुछ ने लिखा कि 410 करोड़ खर्च करने वाले करण जौहर को एडवांस टिकट बुकिंग के लिए भी कम से कम 50 करोड़ का बजट रिजर्व रखना चाहिए था. पहले दो दिन की टिकटें मुफ्त में बांट देते. लोग कमाई के आंकड़े देखकर सिनेमाघर चले आएंगे. ऐसे लोगों की कमी नहीं है जो बॉलीवुड को इसी फ़ॉर्मूले पर फिल्म बेंचने की सलाह दे रहे. वे कह रहे कि अगर कमाई के आंकड़ों से ही फिल्म चल जाती है तो 400 करोड़ में फिल्म बनाने वाले निर्माता 100 करोड़ का रिजर्व बजट टिकटों के लिए रखे. इससे बेहतर सक्सेस फ़ॉर्मूला क्या ही होगा. इस तरह घटिया से घटिया कंटेंट भी बेंचा जा सकता है. बायकॉट से क्या ही डरना.

ब्रह्मास्त्र का निर्देशन अयान मुखर्जी ने किया है. फिल्म में रणबीर कपूर अलिया भट्ट की जोड़ी है. दोनों के अलावा अमिताभ बच्चन, नागार्जुन, डिंपल कपाड़िया, मौनी रॉय अहम भूमिकाओं में हैं. शाहरुख खान ने भी कैमियो किया है.

Ronak Lakhani

Ronak Lakhani