अमिताभ और सूरज बड़जात्या जैसे दिग्गजों की फिल्म को इतनी कम स्क्रीन पर क्यों रिलीज़ किया जा रहा है?

अमिताभ और सूरज बड़जात्या जैसे दिग्गजों की फिल्म को इतनी कम स्क्रीन पर क्यों रिलीज़ किया जा रहा है?

सूरज बड़जात्या की पिछली फिल्म ‘प्रेम रतन धन पायो’ 2015 में आई थी. अब उसके सात साल बाद ‘ऊंचाई’ आ रही है. जहां वो पहली बार अमिताभ बच्चन, अनुपम खेर, बोमन ईरानी और डैनी डेनजोंगपा को साथ लाए हैं. ब्लॉकबस्टर फिल्में देने वाले डायरेक्टर सूरज और अमिताभ जैसे ए लिस्टर. लाज़मी था कि फिल्म को बड़े लेवल पर रिलीज़ किया जाएगा. बस यहीं पर फिल्म वालों का प्लान अलग है. वो अपनी फिल्म को ढेर सारी स्क्रीन पर रिलीज़ ही नहीं करना चाहते. आमतौर पर ऐसा देखने को मिलता है कि फिल्में कम स्क्रीन मिलने से परेशान रहती हैं. लेकिन यहां ‘ऊंचाई’ को खुद ज़्यादा स्क्रीन नहीं चाहिए.

बॉलीवुड हंगामा की एक रिपोर्ट में लिखा गया कि ‘ऊंचाई’ को डिस्ट्रिब्यूट करने की ज़िम्मेदारी यश राज फिल्म्स ने ली है. पहले फिल्म को 600 से 700 स्क्रीन्स पर रिलीज़ किया जाना था. लेकिन अब प्लान में परिवर्तन है. अब फिल्म को करीब 450 से 475 स्क्रीन पर रिलीज़ किया जाना है. इतनी स्क्रीन कम बजट पर बनी फिल्मों को मिलती हैं. अगर आप ‘ऊंचाई’ का शो बुक करने जाएंगे तो पाएंगे कि सुबह का कोई भी पहला आठ या नौ बजे नहीं. 10:30 से 11 बजे के शो में फिल्म अपने पहले दिन खुलेगी. फिल्म की एग्ज़ीबिशन से जुड़े एक सोर्स ने बॉलीवुड हंगामा से बात की. बताया,

पांच या उससे ज़्यादा स्क्रीन वाले मल्टीप्लेक्स को दिन के चार शो चलाने को कहा गया है. जिन थिएटर्स के पास पांच से कम शो हैं, वो दिन के दो से तीन शो चला सकते हैं.

अमिताभ की फिल्म ‘चेहरे’ कोरोना काल में रिलीज़ हुई थी. ऐसे समय में जब महाराष्ट्र लॉकडाउन में बंद था. उस फिल्म को भी करीब 1000 शो मिले थे. उनकी आखिरी फिल्म ‘झुंड’ को करीब 1200 स्क्रीन पर रिलीज़ किया गया था. सूरज बड़जात्या अपनी फिल्म ‘ऊंचाई’ के साथ ऐसा क्यों कर रहे हैं, इसके पीछे एक प्लैन्ड स्ट्रैटिजी हो सकती है. दरअसल, राजश्री फिल्म्स का एक मॉडल रहा है. फिल्म रिलीज़ के पहले हफ्ते उसे कम स्क्रीन पर रिलीज़ किया जाता है. फिर जैसे-जैसे फिल्म की डिमांड बढ़ने लगती है, उसी के आधार पर शो बढ़ाए जाते हैं.

‘हम आपके हैं कौन’ को भी पहले हफ्ते में कम स्क्रीन्स पर रिलीज़ किया गया था. जनता फिल्म को देखना चाहती थी, इसलिए उसके शो बढ़ा दिए गए. वो फिल्म 1994 की सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली हिंदी फिल्म बनी. ‘ऊंचाई’ के साथ भी वो कुछ ऐसा ही करने की सोच रहे हैं.

Ronak Lakhani

Ronak Lakhani