आचार्य सनी लियोन बंगाल के कॉलेजों में शोध क्यों कर रही हैं, इसकी वजह जानकर आप हैरान रह जाएंगे।

आचार्य सनी लियोन बंगाल के कॉलेजों में शोध क्यों कर रही हैं, इसकी वजह जानकर आप हैरान रह जाएंगे।

बॉलीवुड एक्ट्रेस सनी लियोन ने इंडस्ट्री में अपना नाम बनाया है। सनी लंबे समय से हिंदी फिल्मों में काम कर रही हैं। सनी की फैन फॉलोइंग भी इतनी जबरदस्त है कि इसका अंदाजा लगाना बेहद मुश्किल है. एक्ट्रेस के एक से बढ़कर एक फैन हैं लेकिन इन्हीं फैन्स की वजह से सनी को अपने नाम से जुड़ी कुछ बुरी खबरें कई तरह से सुनने को मिलती हैं. ऐसे में जब से पश्चिम बंगाल में माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक परीक्षाओं के परिणाम घोषित हुए हैं, तब से सभी कॉलेज प्राचार्यों की निगाह सनी लियोन पर टिकी हुई है.

अगर पूरे मामले की बात करें तो कॉलेजों में दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो गई है. पिछले साल सनी लियोन नाम का फर्जी आवेदन कॉलेज में दाखिले की टॉप लिस्ट में रखा गया था। इसके बाद शिक्षा विभाग पर कई सवाल उठे। इस बार प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी, रामकृष्ण मिशन विद्या मंदिर और सेंट जेवियर्स कॉलेज जैसे कई कॉलेजों ने एक टीम बनाई है, इसलिए कई जगहों पर पेशेवर कंपनियां आवेदन प्रक्रिया पर नजर रखते हुए काम संभाल रही हैं।

बता दें कि अगस्त 2020 में आशुतोष कॉलेज में अंग्रेजी साहित्य की प्रवेश परीक्षा के दौरान एक फर्जी बात सामने आई थी. मिली जानकारी के मुताबिक यहां किसी ने सनी के नाम से फर्जी दाखिले के लिए आवेदन किया था. इतना ही नहीं जब मेरिट लिस्ट सामने आई तो उनका नाम भी लिस्ट में सबसे ऊपर था। इस घोटाले के बाद उन्हें सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल भी किया गया था। सनी ने खुद इस घटना पर बनाए गए जोक्स को शेयर किया है।

आशुतोष कॉलेज के एक अधिकारी ने कहा, ‘छात्रों को मार्कशीट, फोटो, हस्ताक्षर और अन्य दस्तावेजों की कॉपी अपलोड करने के लिए कहा जाएगा। आवेदन के समय जमा किए गए दस्तावेजों का मिलान किया जाएगा। कॉलेज इस बात का पूरा ख्याल रख रहा है कि ऐसी घटना दोबारा न हो।

jaimish

jaimish

Leave a Reply

Your email address will not be published.