इलेक्ट्रिक स्कूटी, साइकिल, कार के बाद अब दुनिया को मिला पहला इलेक्ट्रिक हवाई जहाज़, एलिस

इलेक्ट्रिक स्कूटी, साइकिल, कार के बाद अब दुनिया को मिला पहला इलेक्ट्रिक हवाई जहाज़, एलिस

इलेक्ट्रिक कार, बाइक, साइकिल, ऑटोरिक्शा, कार और बस के बारे में आपने सुना होगा. इनमें से कोई वाहन आपके पास होगा या आपने सवारी की होगी. अब दुनिया को मिला है पहला ऑल इलेक्ट्रिक हवाई जहाज़ (All Electric Airplane). इस हवाई जहाज़ का नाम है एलिस और इसने कुछ दिनों पहले वाशिंगटन, अमेरिका (Washington, USA) में सफ़ल उड़ान भरी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस ऑल इलेक्ट्रिक हवाई जहाज़ के प्रोटोटाइप को इज़रायल की कंपनी इविएशन एयरक्राफ़्ट (Eviation Aircraft) ने बनाया है. एलिस ने पूरे एयरफ़ील्ज के दो चक्कर लगाए और 3500 फ़ीट की ऊंचाई तक गई. तकरीबन 8 मिनट की फ़्लाइट के बाद हवाईजहाज़ ने सफ़लतापूर्वक लैंड किया. एलिस ने वाशिंगटन स्टेट के ग्रैंड काउंटी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सफ़ल उड़ान भरकर इतिहास रचा.

इलेक्ट्रिक कार की बैटरी तकनीक पर ही चलता है
इविएशन एयरक्राफ़्ट के प्रेसिडेंट और CEO, ग्रेगरी डेविड ने कहा कि ये ऐतिहासिक पल है. डेविड के शब्दों में, ‘आखिरी बार एक पूरी नई तकनीक को इस तरह आंखों के सामने 1950 के दशक में देखा गया था.’

Evening Standard की एक रिपोर्ट के अनुसार, एलिस में कम से कम 9 यात्री बैठ सकते हैं और ये एक प्राइवेट जेट की तरह ही दिखती है. इलेक्ट्रिक कार में जिस बैटरी तकनीक का इस्तेमाल होता है एलिस में भी वैसी ही तकनीक का इस्तेमाल किया गया है.

लंदन से पैरिस तक जा सकता है एलिस?
तीन मिनट चार्ज करने पर ये हवाई जहाज़ 1 घंटे तक उड़ सकता है. एलिस को लंबी दूरी का ध्यान रखकर डिज़ाइन नहीं किया गया. हालांकि अभी इस हवाई जहाज़ की रैंज इतनी है कि इससे आसानी से लंदन से पैरिस, एम्सटर्डैम या ज़्यूरिक तक पहुंचा जा सकता है.

एलिस स्पीड के मामले में आज के पैसेंजर जेट्स से पीछे है. एक बोइंग 737 की रफ़्तार 588 मील प्रति घंटा है लेकिन एलिस की रफ़्तार 287 मील प्रति घंटा है. एलिस में कम्बश्चन इंजन नहीं लगा जिस वजह से इसका सफ़र अन्य हवाई जहाज़ की तुलना में शांत होगा.

कंपनी का दावा है कि इस ऑल इलेक्ट्रिक हवाई जहाज़ को ज़्यादा मेन्टेनेंस की भी ज़रूरत नहीं है. कंपनी ने इस एयरक्राफ़्ट के तीन कन्फ़ीगरेशन बनाए हैं- कम्युटर, एक्ज़ेकेटिव और कार्गो. कम्युटर हवाई जहाज़ में 9 यात्री और 2 पायलट सफ़र कर सकते हैं, वहीं एक्ज़ेकेटिव हवाई जहाज़ में सिर्फ़ 6 यात्री ही सफ़र कर सकते हैं.

एविएशन एयरक्राफ़्ट का दावा है कि 2027 तक बिजली से चलने वाले हवाई जहाज़ बाज़ार में मिलने लगेंगे.

Ronak Lakhani

Ronak Lakhani