गुजरात के 108 मंदिरों में अब मस्जिद जैसे लाउडस्पीकर पर बजेगी हनुमान चालीसा

गुजरात के 108 मंदिरों में अब मस्जिद जैसे लाउडस्पीकर पर बजेगी हनुमान चालीसा

गुजरात में अज़ान जैसे लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा को सुनकर किसी को हैरानी नहीं होगी. गुजरात के एक शहर में एक अनोखा अभियान शुरू किया गया है। गुजरात के तीसरे सबसे बड़े शहर के मंदिरों में लाउड स्पीकर पर हनुमान चालीसा का पाठ किया जाएगा। वडोदरा शहर के 108 मंदिरों में दिन में दो बार हनुमान चालीसा और आरती करने के लिए लाउडस्पीकरों का इस्तेमाल किया जाएगा। यह पहल स्थानीय संगठन मिशन राम सेतु ने की है।

वडोदरा के कालाघोड़ा क्षेत्र के पंचमुखी हनुमान मंदिर में श्रावण मास के पहले सोमवार से लाउडस्पीकरों का वितरण शुरू हो गया है. लाउडस्पीकर बांटने की पहल पर राम सेतु मिशन के अध्यक्ष दीप अग्रवाल ने कहा, लाउडस्पीकर लगाने के पीछे का मकसद भक्तों को घर बैठे हनुमान चालीसा, आरती और अन्य भक्ति गीत सुनकर इसका लाभ उठाना है. दरअसल, कोरो महामारी के बाद कई मंदिरों को सरकारी दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रतिबंधित कर दिया गया है। ताकि जो भक्त मंदिर नहीं जा सकते वे घर पर ही हनुमान चालीसा और आरती सुन सकें।

इस बारे में दीपक अग्रवाल ने कहा कि लाउडस्पीकर बनवाने के लिए 78 मंदिरों ने हमारे यहां रजिस्ट्रेशन कराया था. बुधवार से लाउडस्पीकर बांटे गए। छोटे-बड़े कई मंदिरों में लाउडस्पीकर लगाए गए हैं। यह जानकारी विश्व हिंदू परिषद ने दी है। संगठन के अनुसार पिछले साल श्रावण मास के दौरान कुछ मंदिरों में लाउडस्पीकर भी दिए गए थे। सोशल मीडिया पर कई लोग इसका समर्थन कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि इसी तरह की पहल देश के दूसरे शहरों में भी की जानी चाहिए.

इस मिशन के तहत अगर कोई बड़ा मंदिर है तो 2 लाउडस्पीकर और अगर छोटा है तो 1 लाउडस्पीकर दिया जाएगा। 78 मंदिरों का पंजीकरण हो चुका है। श्रवण के पहले सोमवार को नगर भाजपा अध्यक्ष डॉ विजय शाह, महासचिव सुनील सोलंकी और जसवंत सिंह सोलंकी द्वारा पंचमुखी हनुमानजी मंदिर में लाउडस्पीकर दिया गया.

jaimish

jaimish

Leave a Reply

Your email address will not be published.