‘वो बस 7 मिनट के लिए पानी से बाहर आया’, झील में फिर से दिखा ‘समुद्री राक्षस’, शहर वालों की नींद उड़ी

‘वो बस 7 मिनट के लिए पानी से बाहर आया’, झील में फिर से दिखा ‘समुद्री राक्षस’, शहर वालों की नींद उड़ी

दुनिया में बहुत से जीव ऐसे हैं जिनके बारे में इंसान अभी तक जान नहीं पाया है। ऐसा ही समुद्री राक्षस के बारे में है। बहुत सारे लोगों के लिए यह एक कपोल कल्पना लग सकती है लेकिन दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी हुए हैं जिन्होंने इसे देखे जाने का दावा किया है। हाल ही में एक बार फिर से समुद्री राक्षस को एक झील में देखे जाने का दावा किया गया है जिसे सात मिनट तक स्थानीय लोगों ने पानी के ऊपर नाचते देखा।

लॉच नेस में रहता है समुद्री दैत्य यह सिर्फ हवा हवाई बात नहीं है समुद्री राक्षस को देखे जाने के बारे में इस तरह के दावों का रिकॉर्ड रखा जाता है। अगर इसकी माने तो इस साल यह पांचवी बार है जब इस पानी के इस दैत्य को स्कॉटलैंड की ऊंचाई वाले इलाके में मौजूद लॉच नेस (नेस नदी पर बनी झील) में किसी इंसान ने देखा है। इसके पहले अप्रैल में इसे देखा गया था। वैसे समुद्री राक्षस के लिए अप्रैल सबसे व्यस्त महीना रहा था। अप्रैल में तीन बार इस दैत्य को देखा गया।

एक बार फिर से लौट आया है राक्षस अप्रैल में कई बार नजर आने के बाद ऐसा लगता है कि इस दैत्य ने खुद को छिपा लिया था और अब एक बार फिर से बाहर निकल आया है। स्थानीय लोगों के मुताबिक यह बीती 27 अगस्त को एक बार फिर से पानी के ऊपर आया जब लोगों की नजर उस पर पड़ गई।

सात मिनट तक नजर आया रिकॉर्ड के मुताबिक एक स्थानीय निवासी लॉच नेस के ऊपर पहाड़ी पर था तो उसने लॉच एंड की तरफ बह रही धारा के उल्टी दिशा में कोई चीज जाती हुई देखी। यह दृश्य सात मिनट तक चला था जिसका उसने कुछ वीडियो भी बना लिया था।

क्या है इस समुद्री दैत्य का सच लॉच नेस में दशकों से दैत्य होने के दावे किए जाते रहे हैं। बहुत से लोगों ने इसे देखे जाने का दावा किया है। फिर भी बहुत से लोग ऐसे हैं जो लॉच नेस में दैत्य के रहने के दावों पर यकीन नहीं करते या फिर इसे संदेह की नजर से देखते हैं। कई लोगों का यह भी दावा है कि यह जीव लोच नेस में नहीं जिंदा रह पाएगा क्योंकि यह खारे पानी में रह सकता है। हालांकि इस साल की शुरुआत में की गई एक नई रिसर्च में इस तरह के समुद्री जीव के होने के बारे में उम्मीद जताई है।

डायनासोर के साथ का है ये जीव मोरक्कों के सहारा रेगिस्तान में मिले 10 करोड़ वर्ष पुराने जीवाश्मों के अध्ययन से पता चला कि ये जीव मगरमच्छ, कछुए, मछली और विशाल पानी में रहने वाले डायनासोर के साथ मीठे पानी में नियमित रूप से रहते थे। फिलहाल इस जीव के एक बार फिर से नजर आने के बाद स्थानीय लोग फिर से इसके लौट आने को लेकर डरे हुए हैं।

Ronak Lakhani

Ronak Lakhani