दिल्ली में 5जी नेटवर्क लगाना चालू, इन इलको में रहेगा 5जी डाटा बिल्कुल मुफ़्त. नही चाहिए होगा कोई पैक

दिल्ली में 5जी नेटवर्क लगाना चालू, इन इलको में रहेगा 5जी डाटा बिल्कुल मुफ़्त. नही चाहिए होगा कोई पैक

4जी से 5जी (4G, 5G) की ओर मोबाइल नेटवर्क की ओर भारत बढ़ रहा है। इसको लागू करने के केंद्र सरकार द्वारा नीति सार्वजनिक करने के बाद दिल्ली के स्थानीय निकाय भी नीति के अध्ययन में जुट गए हैं। हालांकि अभी की स्थिति में स्थानीय निकायों के पास कोई अधिकार नहीं है, लेकिन वह भविष्य में होने वाली जरूरतों के लिए अपने आप को तैयार कर रहे हैं। ताकि जैसे ही नीति दिल्ली में लागू हो उसका जल्द से जल्द लोगों लाभ मिले इसके लिए स्वयं को तैयार कर रहे हैं।

NDMC अधिकारियों के दिए निर्देश
दो बैठकें इसमें राज्य सरकार के स्तर पर हो चुकी हैं। फिर भी टेलिकाम टावर के विभिन्न प्रकार के इंतजाम करने का अधिकार स्थानीय निकायों के पास होता है। ऐसे में हमने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह इसका अध्ययन करें और जैसे ही इसकी नीति निर्धारित हो, उसको कैसे जल्द से जल्द एनडीएमसी क्षेत्र में लागू किया जाए, इसकी तैयारी करें।

वर्तमान ढांचे का नहीं होगा प्रयोग
उन्होंने कहा कि नीति के अध्ययन से पता चला है कि 5जी की तकनीक में टेलिकाम टावरों की संख्या अधिक रहने वाली है। साथ ही वर्तमान ढांचे का उपयोग उसमें नहीं होगा। इसके लिए नए सिरे से तारें डाली जाएंगी। जिसके बाद इन टावरों को लगाने का काम होना है।

दिल्ली में टावरों और फाइबर का डाटा
दिल्ली में मोबाइल टावरों की बात करें 400 से अधिक सेल आन व्हील टावर हैं। 2020 में सेलुलर आपरेटर्स आफ इंडिया (सीओएआइ) की एक रिपोर्ट के अनुसार 1 सितंबर 2020 तक, दिल्ली में 28,000 से अधिक टावर और 16680 किलोमीटर फाइबर है। दिल्ली में सही कनेक्टीविटी के लिए 2024 तक 18 हजार और अतिरिक्त मोबाइल टावरों की आवश्यकता है।

इन जगहों पर शुरू हो रहा है सेवा.
सुविधाओं को चालू करने के लिए दिल्ली के इलेक्ट्रिक बोर्ड साइड बाल होल्डिंग बस शेल्टर ट्रैफिक सिग्नल और मेट्रो पिलर इत्यादि पर छोटे-छोटे 5G नेटवर्क के यूनिट लगाए जा रहे हैं जिससे 5G नेटवर्क का कवरेज लोगों को मिलना शुरू हो जाएगा.
दिल्ली सरकार के शहरी विकास विभाग के सचिव ने बैठक में विभिन्न विभागों और एजेंसियों को इस बात की जानकारी लोकेशन के साथ उपलब्ध कराया.

Ronak Lakhani

Ronak Lakhani