सूर्यदेव को जल चढ़ाते समय उसमे मिलाए ये 4 चीजे, बड़ी से बड़ी मनोकामना होगी पूर्ण

सूर्यदेव को जल चढ़ाते समय उसमे मिलाए ये 4 चीजे, बड़ी से बड़ी मनोकामना होगी पूर्ण

सूर्य को सभी देवताओं का राजा माना जाता है। यही कारण है कि सूर्य को देवता के रूप में पूजा जाता है। ऐसा कहा जाता है कि सूर्य देव को प्रसन्न करने वाले व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। इसके लिए लोग सूर्य देव को जल चढ़ाते हैं। जो किसी भी व्यक्ति के लिए सौभाग्य लाता है और उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी करता है।

धर्म और ज्योतिष दोनों में ही सूर्य देव को जल अर्पित करना शुभ माना जाता है। यह आपकी सभी मानसिक इच्छाओं को पूरा करता है। हालाँकि आपको पता होना चाहिए कि सूर्य देव को जल चढ़ाते समय कुछ चीजों को मिलाना चाहिए। जिससे सूर्यदेव बहुत प्रसन्न होते हैं और मनोवांछित कार्य में सफलता प्राप्त करते हैं। ऐसा करते समय आप एक विशेष मंत्र का जाप भी कर सकते हैं तो आइए जानते हैं कि सूर्य देव को जल चढ़ाते समय इसमें कौन सी चीजें मिलानी चाहिए।

अक्षत: चावल के दानों को हिन्दू धर्म में अक्षत के नाम से जाना जाता है। आप जानते ही होंगे कि चावल का इस्तेमाल हर रस्म में किया जाता है। इसी क्रम में यदि आप सूर्य देव को जल अर्पित करने के लिए कलश में चावल मिलाते हैं तो यह बहुत शुभ माना जाता है। यह आपके घर में लड़ना बंद कर देता है और शांति का माहौल बनाता है। इससे व्यक्ति के जीवन में कभी भी दुख नहीं होता है और वह हमेशा खुश रहता है।

रोली: इसके अलावा सूर्यदेव को अर्पित जल में रोली भी मिलानी चाहिए। ऐसा करने से सौरमंडल से जुड़े सभी दोष नष्ट हो जाते हैं। साथ ही इससे सेहत भी अच्छी बनी रहती है और शरीर में ब्लड सर्कुलेशन भी अच्छा रहता है। अगर आपके घर में कोई बीमार है तो उसे जरूर करना चाहिए। इससे उसकी सेहत में सुधार होगा।

फूल: सभी देवी-देवताओं की पूजा में फूलों का प्रयोग किया जाता है और ऐसा माना जाता है कि इन्हें फूल बहुत प्रिय होते हैं। इसी क्रम में यदि आप जल चढ़ाते समय सूर्य देव के फूलों को मिला दें तो यह आपके सभी कामों को बिना किसी परेशानी के पूरा करेगा और आपको सुख की प्राप्ति होगी।

मिश्री: आमतौर पर हर हिंदू भगवान को मिश्री का भोग लगाना बहुत शुभ माना जाता है और इससे मनचाहा फल मिलता है। तो आप इसे सूर्य देव को अर्पित जल में मिला सकते हैं। ऐसा करने से आपको सूर्य देव की कृपा मिलेगी और सफलता भी मिलेगी।

इस मंत्र का जाप करें: सूर्यदेव को जल चढ़ाते समय किसी मंत्र का जाप करने से उत्तम फल की प्राप्ति होती है। यह मंत्र है ‘ॐ सूर्याय नमः’ इसके साथ ही आप गायत्री मंत्र का जाप भी कर सकते हैं।

jaimish

jaimish

Leave a Reply

Your email address will not be published.